भद्रासन – भद्रासन योग करने का तरीका और फायदे, Bhadrasana in Hindi

Bhadrasana in Hindi

भद्रासन

‘भद्र’ का मतलब होता है ‘अनुकूल’ या ‘सुन्दर’। यह आसन लम्बे समय तक ध्यान(मेडीटेसन) में बैठे रहने के लिए अनुकूल है और इससे शरीर निरोग और सुंदर रहने के कारण इसे भद्रासन कहा जाता हैं। भद्रासन योग को अंग्रेजी में ‘ग्रेसिऑस पोज’ भी कहा जाता हैं।

भद्रासन कई प्रकार से किया जाता हैं पर हम यहाँ पर भद्रासन का सबसे सरल और उपयोगी प्रकार की जानकारी दे रहे हैं।

भद्रासन करने का तरीका

  1. वज्रासन में बैठ जाएं। घुटनों को जितना संभव हो, दूर-दूर कर लें।
  2. पैरों की उंगलियों का सम्पर्क जमीन से बना रहे।
  3. अब पंजों को एक-दूसरे से इतना अलग कर लें कि नितम्ब और मूलाधार उनके बीचे जमीन पर टिक सकें।
  4. घुटनों को और अधिक दूर करने का प्रयास करें, लेकिन दूर करते समय अधिक जोर न लगाएं।
  5. हाथों को घुटनों पर रखें, हथेलियां नीचे की ओर रहें।
  6. जब शरीर आराम की स्थिति में आ जाए, तब नासिकाग्र दृष्टि (दृष्टि को नासिका के आगे वाले भाग पर ध्यान लगाना) का अभ्यास करें। जब आंखें थक जाएं, तब उन्हें कुछ देर के लिए बंद कर लें।
  7. आंखों को खोल लें और फिर से इस प्रक्रिया को दोहराएं।
  8. इस प्रक्रिया को इसी प्रकार दस मिनट तक दोहराएं।

भद्रासन में बरतने वाली सावधानियां

  1. गर्भवती महिलायें इस आसन को किसी ट्रेनर की मदद से करें।
  2. घुटने दर्द होने पर इस आसन को न करें।
  3. अगर इस आसन को करते समय कमर दर्द होती है तो इस आसन को न करें।
  4. पेट की समस्या में भी इस आसन को नहीं करना चाहिए।

भद्रासन के लाभ

  1. ध्यान में बैठने के लिए एक उपयोगी आसन हैं।
  2. एकाग्रता शक्ति बढ़ती हैं और दिमाग तेज होता हैं।
  3. मन की चंचलता कम होती हैं।
  4. प्रजनन शक्ति बढ़ाता हैं।
  5. पाचन शक्ति ठीक रहती हैं।
  6. पैर के स्नायु मजबूत होते हैं।
  7. सिरदर्द, कमरदर्द, आँखों की कमजोरी, अनिद्रा और हिचकी जैसे समस्या में राहत मिलती हैं।

भद्रासन, यह एक बेहद सरल और उपयोगी आसन हैं। अगर आपको कोई पेट की बीमारी है या घुटनों की तकलीफ है तो डॉक्टर या योग विशेषज्ञ की राय लेकर ही यह योग करे। योग करने पर कोई परेशानी होने पर डॉक्टर / योग विशेषज्ञ की सलाह लेना चाहिए। योग अभ्यास का समय धीरे-धीरे बढ़ाये।

योग क्‍या है, योग कैसे किया जाता है, योग कैसे काम करता है, विभिन्‍न बीमारियों को दूर करने के लिए योग कैसे करें, योग के क्‍या फायदे हैं, मोटापा दूर करने के लिए योग और योग के अन्‍य फायदों के बारे में अधिक जानकारी के लिए पूरा लेख पढ़ें- योग के प्रमुख आसन और उनके लाभ, Yoga Asanas in Hindi

Related Posts

पद्मासन – पद्मासन कैसे और क्यों करें? विधि और फायदे, Padmasana in Hindi

पद्मासन (Padmasana) पद्मासन बैठ कर किया जाने वाला आसन है, जिसमे दोनों पैर को मोड़कर विपरीत जांघ पर रखा जाता है और दोनों घुटने विपरीत दिशा में रहते हैं। यह…

Read more !

गोमुखासन – गोमुखासन करने का तरीका, फायदे और सावधानी – Gomukhasana in Hindi

गोमुखासन संस्कृत में ‘गोमुख’ का अर्थ होता है ‘गाय का चेहरा’ या गाय का मुख़। इस आसन में पांव की स्थिति बहुत हद तक गोमुख की आकृति जैसे होती है।…

Read more !

मत्स्यासन – मत्स्यासन योग क्रिया की विधि, लाभ और फायदे, Matsyasana in Hindi

मत्स्यासन (Matsyasana) मत्स्य का अर्थ होता है मछली, इस आसन के दौरान शरीर का आकार मछली जैसा बनता है, इसलिए इस आसान को मत्स्यासन नाम दिया गया है। अंग्रेजी में…

Read more !

प्राणायाम – प्राणायाम क्या है और इसके प्रकार, Pranayam in Hindi

प्राणायाम क्या है? प्राण वह शक्ति है जो हमारे शरीर को ज़िंदा रखती है और हमारे मन को शक्ति देती है। तो ‘प्राण’ से हमारी जीवन शक्ति का उल्लेख होता…

Read more !

शीर्षासन – करने का तरीका और फायदे, Sirsasana in Hindi

शीर्षासन (Sirsasana) शीर्षासन का नाम शीर्ष शब्द पर रखा गया है, जिसका मतलब होता है सिर। शीर्षासन को सभ आसनों का राजा माना जाता है। इसे करना शुरुआत में कठिन…

Read more !