डेल्टा और उसके प्रकार-Delta and its types

नदी के अन्तिम भाग पर ढलान कम होती है तथा अवसादों की अधिकता होती है। अतः नदी की परिवहन शक्ति कम हो जाती है। जिससे अवसादों का निक्षेपण होने लगता है। इस निक्षेपण से एक विशेष प्रकार के स्थल रूप का निर्माण होता है। जिसे डेल्टा कहते हैं।

डेल्टा नदी के अन्तिम भाग का वह समतल मैदान होता है जिसका ढलान सागर की ओर होता है। डेल्टा शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम हेरोडोट्स ने नील नदी के लिए किया था।

डेल्टा के प्रकार

आकृति के अनुसार डेल्टा निम्नलिखित प्रकार के होते हैं।

1-चापाकार डेल्टा (Arcuate Delta)

जब नदी की मुख्य धारा द्वारा पदार्थों का निक्षेप बीच में अधिक तथा किनारों पर संकरे रूप में होता है। तो चापाकार डेल्टा का निर्माण होता है। जैसे-नील, राइन, ह्वांगो, इरावदी, वोल्गा, डैन्यूव, सिन्धु, ब्रह्मपुत्र तथा गंगा नदियों के डेल्टा।

2-पंजाकार डेल्टा (Bird foot Delta)

 इस प्रकार डेल्टा का निर्माण उन बारीक कणों से होता है, जो जल के साथ घोल के रूप में मिले रहते हैं। तथा जिनमे चूना की मात्रा अधिक होती है। जैसे-मिसीसिपी-मिसौरी नदी का डेल्टा

विश्व के प्रमुख ज्वालामुखी

3-ज्वारनदमुखी डेल्टा (Estuarine Delta)

 नदियों की एस्चुअरी के भर जाने से निर्मित लम्बे तथा संकरे डेल्टा को ज्वारनदमुखी डेल्टा कहते हैं। एस्चुअरी नदियों के उस मुहाने को कहा जाता है जो जलमग्न होता है तथा जहाँ पर सागरीय तथा ज्वारीय लहरें नदी द्वारा निक्षेपित पदार्थों को बहा ले जाती हैं। यह मुहाना प्रायः चौड़ा होता है। इस मुहाने में नदियाँ अपने मलवा का निक्षेपण करके उसे भरने का प्रयास करती हैं। फलस्वरूप एक लम्बे किन्तु संकरे डेल्टा का निर्माण होता है। जैसे-मैकेंजी, सीनओब, हडसन, नर्वदा एवं ताप्ती नदियों के डेल्टा।

4-परित्यक्त डेल्टा (Abandaned Delta)

 जब नदी अपने पहले डेल्टा को छोड़कर दूसरी जगह अन्य डेल्टा का निर्माण करती है। तो पहले वाले डेल्टा को परित्यक्त डेल्टा कहते हैं। गंगा ब्रह्मपुत्र डेल्टा का पश्चिमी भाग, जो हुगली नदी द्वारा प्रवाहित होता है परित्यक्त डेल्टा का उदाहरण है। ह्वांगो नदी पर इस प्रकार के कई डेल्टा पाये जाते हैं।

विस्तार के आधार पर डेल्टा दो प्रकार के होते हैं।

1-प्रगतिशील डेल्टा (Growing delta)

 जब नदियों द्वारा लाये गये अवसाद का जमाव मुहाने से सागर की ओर निरन्तर बढ़ता रहता है। तो इस डेल्टा को प्रगति शील डेल्टा कहते हैं।

2-अवरोधित डेल्टा (Blocked delta)

 जब डेल्टा का विस्तार रुक जाता है तो उसे अवरोधित डेल्टा कहते हैं। यह अवरोध सागरीय लहरों या धाराओं द्वारा उत्पन्न होता है।

हिमालय से निकलने वाली नदियां

IMPORTANT QUESTIONS

 Question. नदियाँ डेल्टा का निर्माण किस अवस्था में करती हैं?

Answer. वृद्धावस्था में

Question. नदी द्वारा निर्मित रचनात्मक स्थल रूपों में किसका सर्वाधिक महत्व है?

Answer. डेल्टा का

Question. पंजाकर डेल्टा का निर्माण कौन सी नदी करती है?

Answer. मिसीसिपी-मिसौरी

Question. विश्व का सबसे बड़ा डेल्टा कौन सा है?

Answer. गंगा-ब्रह्मपुत्र नदी डेल्टा (51306 km)

Related Posts

वन्य जीव संरक्षण या सुरक्षा अधिनियम-1972-Wildlife Protection Act

वन्य जीवों की सुरक्षा के लिए भारत सरकार ने 1972 में “वन्य जीव संरक्षण अधिनियम” पारित किया। इसका उद्देश्य वन्य जीवों को सुरक्षित कर प्रकृति के संतुलन को बनाये रखना…

Read more !

सूर्य और उसकी संरचना-sun and its structure

सूर्य सौरमंडल का जनक तथा ऊर्जा का स्रोत है। यह सौरमंडल के केन्द्र में स्थित है। सूर्य एक मध्यम आयु का तारा है। इसका व्यास 13.84 लाख किमी. है। इसके…

Read more !

भारत की भूगर्भिक संरचना-Geological structure of india

भारत की भूगर्भिक संरचना का इतिहास बताता है कि भारत में प्राचीनतम चट्टानों से लेकर नवीनतम चट्टानें तक पायीं जातीं हैं। यहाँ “आर्कियन एवं प्री-कैम्ब्रियन” युग की प्राचीन चट्टानें भी…

Read more !

सामाजिक वानिकी कार्यक्रम-social forestry program

सामाजिक वानिकी कार्यक्रम पेड़ लगाने को प्रात्साहित करने वाला कार्यक्रम है। इसे 1976 ई. में शुरू किया गया। वनारोपण को जन आन्दोलन बनाना इस नीति का मुख्य लक्ष्य है। इसमें…

Read more !

ब्रह्माण्ड की उत्पत्ति-origin of the universe

हमारा सौरमण्डल मंदाकिनी आकाशगंगा मे स्थित है। मंदाकिनी सदृश्य कई आकाश गंगाएं मिलकर एक “आकाशगंगा का पुंज (super cluster of galaxies)” बनाती हैं। ब्रह्माण्ड किसे कहते हैं? आकाशगंगा के सभी…

Read more !