मत्स्यासन – मत्स्यासन योग क्रिया की विधि, लाभ और फायदे, Matsyasana in Hindi

Matsyasana

मत्स्यासन (Matsyasana)

मत्स्य का अर्थ होता है मछली, इस आसन के दौरान शरीर का आकार मछली जैसा बनता है, इसलिए इस आसान को मत्स्यासन नाम दिया गया है। अंग्रेजी में इसे फिश पोज़ के नाम से भी जाना जाता है। जिन लोगो को कमर दर्द और गले से सम्बंधित समस्याए है, उन्हें यह आसान जरूर करना चाहिए।

मत्स्यासन करने की विधि

  1. मत्स्यासन का अभ्यास करने के लिए सर्वप्रथम पद्मासन में बैठ जाए।
  2. अब पीछे की और झुखे और लेट जाये।
  3. फिर अपने दोनों हाथो को एक दूसरे से बांधकर सिर के पीछे रखे और पीठ के हिस्से को ऊपर उठाकर गर्दन मोड़ते हुए सिर के उपरी हिस्से को जमीन पर टिकाए।
  4. अब अपने दोनों पैर के अंगूठे को हाथों से पकडे और ध्यान रहे की कोंहनिया जमीन से सटी हुई हो।
  5. एक से पांच मिनिट तक अभ्यास करे।
  6. इस स्थिति में कम से कम 5 सेकंड तक रुके और फिर पूर्व अवस्था में वापिस आ जाये।
  7. यह आसन करते समय श्वसन की गति नियमित रखे, और 5 मिनट तक इस योग क्रिया का अभ्यास कर सकते है।

शुरुआती तौर पर कभी कभी इस मुद्रा को करने पर गर्दन में तनाव महसूस होता है। शुरुवात में इसे करने पर हो भी सकता है की आप अपनी गर्दन या गले में असुविधा महसूस करे- इसलिए आपको यदि इसे करने पर परेशानी महसूस हो रही हो तो इस Fish Yoga Pose को करते वक्त सिर के पीछे की और कम्बल रखे।

मत्स्यासन योग से मिलने वाले लाभ

  1. यह योग दमे के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद है।
  2. यह शुद्ध रक्त का निर्माण तथा संचार करता है।
  3. मधुमेह के रोगियों के लिए यह आसान बहुत फायदेमंद है।
  4. इसके अभ्यास से स्त्रियों के मासिक धर्म संबंधी रोग दूर होते हैं।
  5. मत्स्यासन योग के नियमित अभ्यास से छाती और पेट के रोग दूर होते हैं।
  6. इस योग के अभ्यास से खाँसी दूर होती है और पाचन तंत्र सुधरता है।
  7. मत्स्यासन चेहरे और त्वचा को आकर्षक तथा शरीर को कांतिमान बना देता है।
  8. यह कब्ज दूर कर भूख बढ़ाता है तथा भोजन पचाता है और पेट की गैस दूर करता है।
  9. जो लोग अपने बड़े हुए पेट को कम करना चाहते है, उन्हें यह योग क्रिया को जरूर करना चाहिए।

जो लोग इस आसान का अभ्यास करते है उनमे रक्ताभिसरण की गति बढ़ती है, जिससे चर्म रोग नहीं होता है।

योग क्‍या है, योग कैसे किया जाता है, योग कैसे काम करता है, विभिन्‍न बीमारियों को दूर करने के लिए योग कैसे करें, योग के क्‍या फायदे हैं, मोटापा दूर करने के लिए योग और योग के अन्‍य फायदों के बारे में अधिक जानकारी के लिए पूरा लेख पढ़ें- योग के प्रमुख आसन और उनके लाभ, Yoga Asanas in Hindi

Related Posts

पद्मासन – पद्मासन कैसे और क्यों करें? विधि और फायदे, Padmasana in Hindi

पद्मासन (Padmasana) पद्मासन बैठ कर किया जाने वाला आसन है, जिसमे दोनों पैर को मोड़कर विपरीत जांघ पर रखा जाता है और दोनों घुटने विपरीत दिशा में रहते हैं। यह…

Read more !

हलासन – हलासन करने का तरीका, विधि, लाभ और सावधानी- Halasana in Hindi

हलासन इस आसन में शरीर का आकार हल जैसा बनता है। इससे इसे हलासन कहते हैं। हलासन हमारे शरीर को लचीला बनाने के लिए महत्वपूर्ण है। इससे हमारी रीढ़ सदा…

Read more !

मयूरासन – मयूरासन करने की विधि और फायदे, Mayurasana in Hindi

मयूरासन (Mayurasana) मयूर का अर्थ होता है मोर। इस आसन करने से शरीर की आकृति मोर की तरह दिखाई देती है, इसलिए इसका नाम मयूरासन है। इस आसन को बैठकर…

Read more !

उष्ट्रासन – उष्ट्रासन करने का तरीका और फायदे, Ustrasana in Hindi

उष्ट्रासन ‘उष्ट्र’ एक संस्कृत भाषा का शब्द है और इसका अर्थ ‘ऊंट’ होता है। उष्ट्रासन को अंग्रेजी में ‘Camel Pose’ कहा जाता है। उष्ट्रासन एक मध्यवर्ती पीछे झुकने-योग आसन है…

Read more !

भद्रासन – भद्रासन योग करने का तरीका और फायदे, Bhadrasana in Hindi

भद्रासन ‘भद्र’ का मतलब होता है ‘अनुकूल’ या ‘सुन्दर’। यह आसन लम्बे समय तक ध्यान(मेडीटेसन) में बैठे रहने के लिए अनुकूल है और इससे शरीर निरोग और सुंदर रहने के…

Read more !