प्लुत स्वर – Plut Swar

प्लुत स्वर

जिन स्वरों के उच्चारण में दीर्घ स्वरों से भी अधिक समय लगता है उन्हें प्लुत स्वर कहते हैं। प्रायः इनका प्रयोग दूर से बुलाने में किया जाता है।

Plut Swar

प्लुत स्वर – हिंदी में

Get definition, translation and meaning of प्लुत स्वर in hindi. Above is hindi meaning of प्लुत स्वर. Yahan प्लुत स्वर ka matlab devanagari hindi dictionary bhasha mai (प्लुत स्वर मतलब हिंदी में) diya gaya hai.

Related Posts

संध्य और सामान स्वर (Sandhya aur saman swar)

संध्य और सामान स्वर संध्य स्वर (sandhy swar) संध्य स्वर संख्या में चार होते है। – ए , ऐ , ओ , औ  समान स्वर (samaan swar) समान स्वर, संध्य स्वरों…

Read more !

अर्थ के आधार पर वाक्य के भेद – Arth ke aadhar par vakya ke bhed

अर्थ के आधार पर वाक्य के भेद अर्थ के आधार पर 8 प्रकार के वाक्य होते हैं – विधान वाचक वाक्य निषेधवाचक वाक्य प्रश्नवाचक वाक्य विस्म्यादिवाचक वाक्य आज्ञावाचक वाक्य इच्छावाचक…

Read more !

Raudra Ras (रौद्र रस) – Hindi Grammar

Raudra Ras (रौद्र रस) इसका स्थायी भाव क्रोध होता है जब किसी एक पक्ष या व्यक्ति द्वारा दुसरे पक्ष या दुसरे व्यक्ति का अपमान करने अथवा अपने गुरुजन आदि कि…

Read more !

हलंत – Halant – संस्कृत और हिन्दी में हलंत

हलंत जब कभी व्यंजन का प्रयोग स्वर से रहित किया जाता है तब उसके नीचे एक तिरछी रेखा (्) लगा दी जाती है। यह रेखा हलंत (Halant) कहलाती है। हलयुक्त व्यंजन…

Read more !

अयादि संधि : परिभाषा एवं उदाहरण

अयादि संधि की परिभाषा जब संधि करते समय ए , ऐ , ओ , औ के साथ कोई अन्य स्वर हो तो (ए का अय), (ऐ का आय), (ओ का…

Read more !