संध्य और सामान स्वर (Sandhya aur saman swar)

संध्य और सामान स्वर

Sandhya aur saman swar

संध्य स्वर (sandhy swar)

संध्य स्वर संख्या में चार होते है। – ए , ऐ , ओ , औ 

समान स्वर (samaan swar)

समान स्वर, संध्य स्वरों को छोड़कर सभी शेष स्वर समान स्वर होते है।
समान स्वर संख्या में 9 हैं। – अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, अं, अः

संध्य स्वर संख्या में चार होते है। – ए , ऐ , ओ , औ समान स्वर, संध्य स्वरों को छोड़कर सभी शेष स्वर समान स्वर होते है। समान स्वर संख्या में 9 हैं। – अ, आ, इ, ई, उ, ऊ, ऋ, अं, अः ।

Related Posts

अयादि संधि : परिभाषा एवं उदाहरण

अयादि संधि की परिभाषा जब संधि करते समय ए , ऐ , ओ , औ के साथ कोई अन्य स्वर हो तो (ए का अय), (ऐ का आय), (ओ का…

Read more !

दीर्घ स्वर – Deergh Swar

दीर्घ स्वर जिन स्वरों के उच्चारण में ह्रस्व स्वरों से दुगुना समय लगता है उन्हें दीर्घ स्वर कहते हैं। दीर्घ स्वर की संख्या दीर्घ स्वर हिन्दी में सात हैं- आ,…

Read more !

Upma alankar – उपमा अलंकार किसे कहते हैं उदाहरण सहित व्याख्या

उपमा अलंकार उपमा अलंकार की परिभाषा-Definition Of Upma Alankar जहाँ पर पर दो वस्तुओं या पदार्थों में भिन्नता होते हुए भी उनकी समता की जाए या किसी वस्तु के वर्णन…

Read more !

वर्णों के उच्चारण स्थान – Varno ka uchcharan

परिभाषा मुख के जिस भाग से जिस वर्ण का उच्चारण होता है उसे उस वर्ण का उच्चारण स्थान कहते हैं। उच्चारण-स्थान मुख के अंदर स्थान-स्थान पर हवा को दबाने से…

Read more !

Veer Ras (वीर रस) – Hindi Grammar

Veer Ras (वीर रस) इसका स्थायी भाव उत्साह होता है इस रस के अंतर्गत जब युद्ध अथवा कठिन कार्य को करने के लिए मन में जो उत्साह की भावना विकसित…

Read more !