वाक्य के भेद – Vakyo ke bhed in hindi with example

कर्ता और क्रिया के आधार पर वाक्य के भेद

कर्ता और क्रिया के आधार पर वाक्य के दो भेद होते हैं-

  1. उद्देश्य 
  2. विधेय

जिसके बारे में बात की जाय उसे उद्देश्य कहते हैं और जो बात की जाय उसे विधेय कहते हैं।
उदाहरण के लिए-

  • ‘मोहन प्रयाग में रहता है’।

इसमें उद्देश्य है – ‘मोहन‘ ,
और विधेय है – ‘प्रयाग में रहता है।’

वाक्य के भेद एवं प्रकार

वाक्य भेद दो प्रकार से किए जा सकते हँ-

  1. अर्थ के आधार पर वाक्य भेद
  2. रचना के आधार पर वाक्य भेद

1. अर्थ के आधार पर वाक्य के भेद

अर्थ के आधार पर 8 प्रकार के वाक्य होते हैं –

  1. विधान वाचक वाक्य
  2. निषेधवाचक वाक्य
  3. प्रश्नवाचक वाक्य
  4. विस्म्यादिवाचक वाक्य
  5. आज्ञावाचक वाक्य
  6. इच्छावाचक वाक्य
  7. संकेतवाचक वाक्य
  8. संदेहवाचक वाक्य

2. रचना के आधार पर वाक्य के भेद

रचना के आधार पर वाक्य के निम्नलिखित 3 भेद होते हैं-

  1. सरल वाक्य/साधारण वाक्य
  2. संयुक्त वाक्य
  3. मिश्रित/मिश्र वाक्य
Vakyo Ke Bhed Prakar Ya Vargikaran

विस्तार से जानने के लिए जाए : वाक्य पर।

Related Posts

दीर्घ संधि : परिभाषा एवं उदाहरण

दीर्घ संधि की परिभाषा जब दो शब्दों की संधि करते समय (अ, आ) के साथ (अ, आ) हो तो ‘आ‘ बनता है, जब (इ, ई) के साथ (इ, ई) हो…

Read more !

अलंकार – Alankar In Hindi, Grammar

अलंकार और उसके भेद परिभाषा सहित अलंकार का शाब्दिक अर्थ जिस प्रकार स्त्रियाँ स्वयं को सजाने के लिए आभूषणों का उपयोग करती हैं, उसी प्रकार कवि या लेखक भाषा को…

Read more !

Shant Ras (शांत रस) – Hindi Grammar

Shant Ras (शांत रस) इसका स्थायी भाव निर्वेद (उदासीनता) होता है इस रस में तत्व ज्ञान कि प्राप्ति अथवा संसार से वैराग्य होने पर, परमात्मा के वास्तविक रूप का ज्ञान…

Read more !

हिंदी के कवि एवं उनकी रचनाएं (Hindi Ke Kavi Aur Rachnaye)

हिंदी के प्रसिद्ध कवि एवं उनकी रचनाएं निचे दिए गए लेख को आप सभी Students एक बार अच्छे से जरुर पढ़ ले, यहाँ तैयारी करने से आप सभी परीक्षा में…

Read more !

प्रश्नवाचक सर्वनाम – prashn vachak sarvanam

प्रश्नवाचक सर्वनाम – जिस सर्वनाम से किसी प्रश्न का बोध होता है उसे प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- तुम कौन हो ? तुम्हें क्या चाहिए ? इन वाक्यों में कौन और क्या…

Read more !